चलो दूर गाँव चलते है

by Ira Singh
चलो दूर गाँव चलते है
ऐसा गाँव जंहा जा कर
लोग भाषाएँ भूल जाते है…
इस गाँव के लोग दुखी लोगो को बड़ी हीन द्रष्टि से देखते है …

Ira Singh the Poetess

Ira Singh the Poetess

जिन्दगी में दौड़ते रहने वालो की
बच्चे भी बहुत खिल्ली उड़ाते है..

इस गाँव के लोग भोजन का बहुत आनद लेते है
और कुंए का मीठा पानी पीते है…

शहर के लोगो पर बहुत दया करते है
और भगवान को अपने झोले में रखते है…

यंहा के लोग प्रवचन देने वालो को दूर तक
खदेड़ कर आते है और अपने मन की करते है..

यंहा हर स्त्री सुन्दर है और हर पुरुष सुन्दर है
यह लोग प्रेम न करने वालो को बहुत अचरज से देखते है…



Categories: Love Shayeri

1 reply

  1. Bahut saralta se aapne ek khoobsurat nazaare ko kaagaz pe utaara hai. Ek taaza aur umdaa shaayari ke liye badhaai!!

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: